PRIMARY KA MASTER
उत्तर प्रदेश में शिक्षकों की आगामी भर्तियां 2022 UPPSC 2022 का 250 पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी
आईपीएल 2022 शेड्यूल, प्वाइंट टेबल यूपी बोर्ड 10th-12th एग्जाम की डेटशीट
17000 शिक्षक भर्ती नवीनतम अपडेटयूपी पुलिस 26382 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती
उप्र लोक सेवा आयोग परीक्षा कैलेंडर 2022 UPSSSC प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (PET 2022)
उत्तर प्रदेश प्रमाणपत्र सत्यापन - आय, जाति, निवास , यूपीबोर्ड, टेट बेसिक शिक्षा परिषद की वर्ष-2022 की अवकाश तालिका
शिक्षक सूचनाओं को सीधे पाने लिए ज्वाइन करें शिक्षक समूह
BASIC SHIKSHA MANTRI UTTAR PRADESH | पूर्व मुख्यमंत्री स्व.कल्याण सिंह जी के पौत्र है बेसिक शिक्षा मंत्री मा.संदीप सिंह जी, पढ़े संक्षिप्त परिचय
संदीप सिंह लोधी बेसिक शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश
पिता राजवीर सिंह
दादा कल्याण सिंह
विधायक अतरौली (अलीगढ़)
शिक्षा स्नातकोत्तर
विवरण
दूसरी बार मंत्री बने हैं। पिछली सरकार में वे शिक्षा व वित्त राज्य मंत्री थे। लंदन की लीड्स वैकेट यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। उनके दादा कल्याण सिंह 10 बार विधायक रहे। दो बार मुख्यमंत्री और दो राज्यों के राज्यपाल रहे। पिता राजवीर सिंह एटा से सांसद हैं।
उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ जी की सरकार में संदीप सिंह दूसरी बार मंत्री बन गए हैं। वे पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्‍याण सिंह के पौत्र हैं। अपने दादा की परंपरागत सीट अतरौली से दूसरी बार विधायक बने हैं। संदीप सिंह दूसरी बार मंत्री बनें हैं। इस बार वह बेसिक शिक्षामंत्री बने है। पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्‍याण सिंह के हैं पौत्र संदीप सिंह ने राजनीति में 2017 में एंट्री की थी। अतरौली से चुनाव लड़े और जीत हासिल की। प्रदेश में युवा मंत्री के रूप में चर्चित हुए। दूसरी बार विधायक बने संदीप सिंह 30 साल के हैं। उन्होंने एमए पब्लिक रिलेशन एंड स्टेटिक कम्युनिकेशन, लंदन यूनिवर्सिटी से किया था। उन्हें विरासत में सियासत मिली है। दादा कल्याण सिंह यहां से दस बार विधायक रहे। दो बार मुख्यमंत्री और दो राज्यों के राज्यपाल रहे। पिता राजवीर सिंह राजू भैया एटा सांसद हैं। मां प्रेमलता वर्मा पूर्व विधायक हैं।
संदीप सिंह ने एमए पब्लिक रिलेशन एंड स्टेटिक कम्युनिकेशन, लंदन यूनिवर्सिटी से किया था। उन्हें विरासत में सियासत मिली है। दादा कल्याण सिंह यहां से दस बार विधायक रहे। दो बार मुख्यमंत्री और दो राज्यों के राज्यपाल रहे। पिता राजवीर सिंह राजू भैया एटा सांसद हैं। मां प्रेमलता वर्मा पूर्व विधायक हैं। उत्‍तर प्रदेश सरकार में राज्‍यमंत्री रहे संदीप सिंह अभी युवा हैं। 30 वर्ष के करीब उनकी उम्र है। इसलिए राजनीति की लंबी पारी खेलने का पूरा मौका है। संदीप सिंह चाहेंगे कि अपने दादाजी की तरह राजनीति में एक नया मुकाम हासिल करें। कल्याण सिंह ने राजनीति में पूरे देश में एक नई पहचान बनाई थी। संदीप सिंह सूबे में वित्त राज्य मंत्री हैं। अतरौली की माटी से भले ही संदीप अच्छी तरह से वाकिफ हैं, मगर दादाजी के रहने से आत्मबल बढ़ता था। कल्याण सिंह का अतरौली पहुंचना ही काफी होता था। हर वर्ग कल्याण सिंह के नाम से साथ खड़ा हो जाता था। हालांकि, संदीप सिंह के आशीर्वाद लेकर आगे कदम बढ़ा दिया।
🏠 Home