PRIMARY KA MASTER
उत्तर प्रदेश में शिक्षकों की आगामी भर्तियां 2022 UPPSC 2022 का 250 पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी
आईपीएल 2022 शेड्यूल, प्वाइंट टेबल यूपी बोर्ड 10th-12th एग्जाम की डेटशीट
17000 शिक्षक भर्ती नवीनतम अपडेटयूपी पुलिस 26382 कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती
उप्र लोक सेवा आयोग परीक्षा कैलेंडर 2022 UPSSSC प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (PET 2022)
उत्तर प्रदेश प्रमाणपत्र सत्यापन - आय, जाति, निवास , यूपीबोर्ड, टेट बेसिक शिक्षा परिषद की वर्ष-2022 की अवकाश तालिका
शिक्षक सूचनाओं को सीधे पाने लिए ज्वाइन करें शिक्षक समूह
छात्रों को दौड़ा कर पीटा , बंदूक के कूदें से तोड़े कमरों के दरवाजे
प्रयागराज : खाकी का क्रूर चेहरा मंगलवार को एक बार सामने आया। नौकरी के लिए आवाज बुलंद करने पहुंचे छात्रों पर पुलिस ने गुंडे-बदमाशों जैसा सुलूक करते हुए उन्हें लाठियों से दौड़ाकर पीटा। पुलिस की कई टीमों ने लॉज, हॉस्टलों के बाहर खड़े छात्रों पर अपनी लाठियां तोड़ दीं। रेलवे ट्रैक पर ट्रेन रोकने की सजा पुलिस ने बेरोजगार छात्रों को बेरहमी से पीटकर दी। आंदोलन करने वाले छात्रों को गली-मुहल्लों में दौड़ाकर सरेआम पीटा। खाकी का दमनकारी रवैया ऐसा रहा कि कई लॉजों में पहुंचे पुलिसवालों ने छात्रों के कमरों के दरवाजों को बंदूक के कुंदों से तोड़ दिया। कमरों में दुबके छात्रों को पुलिसवाले खींचकर बाहर लाए और लाठियों से पीटने लगे। लॉजों में रखे छात्रों के सामान में तोड़फोड़ कर पुलिसवालों ने गुस्सा उतारा। पुलिस टीमों ने सलोरी, छोटा बघाड़ा, बड़ा बघाड़ा, प्रयाग, कर्नलगंज, लल्ला चुंगी कटरा आदि के लॉज में घुसकर जमकर तांडव मचाया। पुलिस की पिटाई से बचने को कई छात्र दीवार फांदकर भागे। पुलिस की बर्बरता का यह तांडव कई घंटे चला। छात्रों पर सरेआम लाठियां बरसीं तो कई क्षेत्रों में अफरातफरी मच गई। लॉजों के आसपास, मुहल्लों में भगदड़ जैसे हालात हो गए। पुलिस की पिटाई, लॉज के दरवाजों को बंदूक के कुंदों से तोड़ने का वीडियो वायरल होने से हंगामा मच गया। पुलिस की पिटाई से एक दर्जन से अधिक छात्र जख्मी हो गए। कुछ को पुलिस पकड़ कर ले गई तो कुछ जान बचाकर चोरी छिपे मरहम पट्टी कराने पहुंच गए। शाम से शुरू हुई की क्रूरता रात तक जारी रही। सबसे ज्यादा पुलिस की लाठियां छोटा बघाड़ा के लॉज में छात्रों पर बरसीं। पुलिस की कई टीमों ने सलोरी, छोटा बघाड़ा, बड़ा बघाड़ा, कटरा, शिवकुटी, कर्नलगंज आदि के लॉज में रात में छापामारी एक दर्जन से अधिक छात्रों को उठा लिया। छात्रों से पूछताछ कर प्रयाग स्टेशन पर हंगामा करने वाले छात्र नेताओं के बारे में पता लगाया जाता रहा। सीओ कर्नलगंज के मुताबिक, सैकड़ों छात्रों ने हंगामा कर पुलिस पर पथराव किया। कुछ छात्रों को पकड़ा गया है। जांच की जा रही है। पुलिस ने इस मामले में अपनी ओर से रिपोर्ट दर्ज की है।
1500 छात्रों पर मुकदमा, लाठीचार्ज करने वाले होंगे निलंबित
प्रयाग स्टेशन पर हंगामा करने वाले छात्रों की पहचान करके पुलिस कार्रवाई में जुट गई है। मंगलवार देररात पुलिस ने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो फुटेज से कुछ छात्रों की पहचान की। उसी आधार पर प्रदीप कुमार, मुकेश यादव, आदित्य पटेल और राजकुमार पटेल को नामजद और 1500 अज्ञात छात्रों के खिलाफ पुलिस टीम पर पथराव, सरकारी काम में बाधा, रेलवे ट्रैक जाम करना, उपद्रव मचाना, ट्रेन रोकने की कोशिश करना और आगजनी की कोशिश समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। एसपी सिटी दिनेश सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि छात्रों ने माल गाड़ी रोक दी है और उसमें आगजनी कर सकते हैं। नियंत्रण करने पुलिस पहुंची तो छात्रों ने पथराव कर दिया। इसके बाद वहां गुरिल्ला युद्ध चला। एक तरफ पुलिस छात्रों को रेलवे ट्रैक से भगा रही थी तो दूसरी ओर ट्रैक पर आ जा रहे थे। पुलिस ने दौड़ाया तो जाकर लॉज में छिप गए। पुलिस पर पत्थर फेंके। वीडियो की मदद से पुलिस ने पहचान की। इस बीच सिपाहियों ने लाठीचार्ज कर छात्रों की पिटाई कर दी। उन सिपाहियों की पहचान करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।
सोशल मीडिया पर बर्बरता का वीडियो, प्रियंका का ट्वीट
पुलिस की बर्बरता के इस मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने संज्ञान लिया। प्रियंका ने छात्रों की पिटाई के मामले पर तल्ख तेवर अपनाते हुए इंसाफ का भरोसा दिलाया। अपने ट्विटर हैंडल पर वीडियो शेयर कर पुलिस बर्बरता पर कड़ी नाराजगी जताई। प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि लॉज और हॉस्टलों में जाकर पुलिस का तोड़फोड़ करना एवं बेकसूर छात्रों को पीटना बेहद निंदनीय है। प्रशासन दमनकारी कार्रवाई पर तुरंत रोक लगाए। युवाओं को रोजगार की बात कहने का पूरा हक है। प्रियंका ने पुलिस की बर्बरता का 30 सेकेंड का वीडियो अपलोड कर इस लड़ाई में छात्रों का साथ देने का भरोसा दिलाया। इसके बाद तो प्रयागराज का यह मामला सोशल मीडिया पर छा गया और इस पर राजनीति गरमाने लगी।

कब क्या हुआ

  • 1:30 दोपहर रेलवे परीक्षा में धांधली का आरोप लगाने वाले अभ्यर्थियों ने युवा पंचायत बुलाई।
  • 2:00 बजे के आसपास छात्रों की भारी भीड़ प्रयाग स्टेशन में जमा हो गई।

खासखास

  • नारेबाजी, हंगामे के बाद छात्रों की भीड़ ट्रैक पर पहुंच गई।
  • छात्रों ने प्रदर्शन कर कानपुर इंटरसिटी को रोक दिया
  • ट्रेन रोके जाने की खबर पाकर पुलिस अधिकारी फोर्स के साथ पहुंचे
  • छात्रों को जबरन ट्रैक से हटाने पर विरोध, पुलिस ने लाठी चला दी
  • छात्रों पर लाठियां बरसीं तो जवाब में पथराव कर भागने लगे

छात्रों की मांग

  • परीक्षा परिणाम को नए सिरे से संशोधित किया जाए।
  • उच्च मेरिट वाले अभ्यर्थी सभी स्लॉट में चयनित हो गए, यह संधोशित हो।
  • स्क्रीनिंग टेस्ट में 20 गुना अभ्यर्थियों को जोन वाइज क्वालीफाई कराया जाए।
  • अभ्यर्थियों की एक बड़ी संख्या सभी स्लॉट में ओवरलैप कैसे हो गई।
  • नोटिफिकेशन जारी हुआ था कि एक ही परीक्षा होगी लेकिन बाद में दो चरण का नोटिफिकेशन जारी कर दिया।
🏠 Home